Thursday, 29 March 2018

पाकिस्तान को जीत के लिए चाहिए थे 4 गेंदों में 6 रन, फिर भारत ने किया ये ऐतेहासिक करिश्मा


भारत और पाकिस्तान शुरू से ही एक दूसरे के कड़े प्रतिद्वंदी रहे हैं चाहे बात क्रिकेट की हो या फिर राजनीतिक संबंधों की भारत और पाकिस्तान के रिश्ते हमेशा से ही अच्छे नहीं रहे। भारत और पाकिस्तान के बीच जब भी कोई क्रिकेट मैच खेला जाता है तब दोनों देशों के दर्शक हर हाल में अपनी टीम को जीतते हुए देखना चाहते हैं। भारत और पाकिस्तान के बीच खेले गए ऐसे ही एक यादगार मैच के बारे में आज हम आपको बताने वाले हैं जिसे आज तक कोई नहीं भूल सका।

हम बात कर रहे हैं भारत और पाकिस्तान के बीच खेले गए अंतरराष्ट्रीय टी20 फाइनल मैच की यह मैच 24 सितंबर 2007 में दक्षिण अफ्रीका में हुआ था। आपको बता दें कि 2007 में हुए इस विश्व कप के रोमांचित मैच में भारत ने पाकिस्तान को 5 विकेट से हराकर खिताब अपने नाम किया था। यह पहला टी20 विश्व कप खिताब था जिसे भारत ने जीता था।
पाकिस्तान इस मैच को कभी नहीं भूल पायेगा क्योंकि इस रोमांचित मैच में पाकिस्तान जीतते-जीतते हार गया। आइए जानते हैं इस रोमांचित मैच की पूरी कहानी।
पहले बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम के सलामी बल्लेबाजों ने अच्छी शुरुआत दी। गौतम गंभीर ने 54 गेंदों पर शानदार 75 रनों की पारी खेली। युवराज सिंह ने 14 रन बनाएं वहीं रॉबिन उथप्पा ने 8 रन की पारी खेली। भारत ने 20 ओवर में 5 विकेट पर 157 रन बनाए थे। पाकिस्तान की ओर से उमर गुल ने शानदार गेंदबाजी की और 28 रन देकर 3 विकेट लिए।

लक्ष्य का पीछा करने उतरी पाकिस्तान टीम की शुरुआत अच्छी नहीं रही और मोहम्मद हफीज 1 रन पर आउट हो गए दूसरी और पाकिस्तान के विस्फोटक बल्लेबाज इमरान नजीर ने ताबड़तोड़ 33 रनों की पारी खेली। लेकिन लगातार अंतराल पर पाकिस्तान के विकेट गिरते रहे, फिर पाकिस्तानी कप्तान मिस्बाह उल हक ने एक छोर संभाला और कप्तानी पारी खेली। एक वक्त पर ऐसा लग रहा था कि भारत के हाथ से मैच निकल चुका है, विश्वकप के इस ऐतिहासिक मैच में आखरी ओवर सबसे रोमांचित रहा। इस ओवर में दर्शकों के दिलों की धड़कन बढ़ने लगी।
मिस्बाह उल हक क्रीज पर जम चुके थे अंतिम 4 गेंदों पर पाकिस्तान को जीत के लिए 6 रन चाहिए थे। कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने अंतिम ओवर करने के लिए जोगिंदर शर्मा को गेंद सौपीं। धोनी का यह फैसला देखकर सब हैरान हो गए लेकिन जोगिंदर शर्मा ने वह कर दिखाया जिसके लिए धोनी ने उन्हें गेंद दी थी। ओवर की तीसरी गेंद पर मिस्बाह ने स्कूप शॉट खेला जब तक गेंद हवा में थी सभी दर्शकों की सांसे थम सी गई थी फिर अचानक श्रीसंत ने इस कैच को लपक लिया और भारत ने इस टी20 विश्वकप को 5 रन से जीत लिया.

No comments:

Post a Comment